सुजलॉन एनर्जी लिमिटेड का नाम हमेशा सुर्खियों में रहता हैं। ये दिग्गज कंपनी पवन ऊर्जा के जरिए बिजली पैदा करती है। तो चलिए जानते हैं 2030 तक इसके शेयरों का सफर कैसा हो सकता है।

सरकार ने नवीकरणीय ऊर्जा को बढ़ावा देने के लिए बड़े-बड़े प्लान बनाए हैं. इससे पवन ऊर्जा की मांग भी तेजी से बढ़ेगी, जो सुजलॉन के लिए फायदे का सौदा है।

सुजलॉन लगातार अपने पवन चक्कियों की टेक्नोलॉजी को बेहतर बना रहा है। इससे ज्यादा बिजली कम लागत में पैदा हो पाएगी और कंपनी की प्रतिस्पर्धा बढ़ेगी।

लेटेस्ट News और अपडेट्स पाने के लिए हमारे व्हाट्सएप ग्रुप को जॉइन करें

अंतरराष्ट्रीय स्तर पर भी पवन ऊर्जा का बोलबाला है। सुजलॉन विदेशी मार्केट में भी अपना पैर जमा रहा है, जो इसके रिवेन्यू को और बढ़ा सकता है।

सरकार ने सब्सिडी कम करने का प्लान बनाया है, जिससे कंपनी के प्रॉफिट मार्जिन पर असर पड़ सकता है।

एक्सपर्ट्स की अलग-अलग राय है, लेकिन ज्यादातर का मानना है कि 2030 तक सुजलॉन का शेयर प्राइस ₹300 से ₹500 के बीच रह सकता है।

लेटेस्ट News और अपडेट्स पाने के लिए हमारे व्हाट्सएप ग्रुप को जॉइन करें